Skip to main content

फॉरन ट्रेड में ब्राइट फ्यूचर

Profile picture for user toshi
Submitted by toshi on सोम, 09/10/2018 - 08:28

नई आर्थिक नीतियों ने विदेशों में व्यापर करने के कई दरवाजे खोल दिए हैं, जिससे युवा फॉरन ट्रेड को चमकदार करियर के रूप में अपना रहे हैं | भारत की कंपनियां जो विदेशों में काम करती हैं, उन्हें मल्टी-लेटरल और मल्टी-लोकेशन ट्रेड एसोसिएशन से जुडे, विदेशी व्यापर नियम से जुड़े तथ्यों की जानकारी रखने वाले प्रोफेशनल की मांग फॉरन ट्रेड वाली कम्पनियों में काफी होती है |

योग्यता : किसी भी  स्ट्रीम से 12 वीं पास होने के बाद आप भी इसकी पढाई कर सकते है | वहीं, इंटरनेशनल बिज़नेस और फॉरन ट्रेड में मास्टर की डिग्री हासिल करने के लिए आपके पास कॉमर्स स्ट्रीम में ग्रेजुएट होना जरुरी हैं |

क्या करना होगा : आपको एक्सपोर्ट, मार्केट  रिसर्च, पैकजिंग,एक्सपोर्ट डॉक्यूमेंटेशन और फॉरन एक्सचेंज के काम करने होंगे | 

अवसर और रोजगार : इस क्षेत्र में आपके पास सरकारी और प्राइवेट दोनों तरह के अवसर हैं | सरकारी क्षेत्रों में आप फॉरन ट्रेड ऑपरेशन, मल्टीनेशनल कम्पनीज़ , इंटरनेशनल ट्रेड रेगुलेटरी  बॉडी में काम कर सकते हैं | वहीं प्राइवेट सेक्टर के मैनुफैक्रिंग कम्पनी, बैंक, ट्रेडिंग हाउसेज में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं | 

पैकेज : इस क्षेत्र में शुरूआती दौर में 3-6 लाख सालाना पैकेज पा सकते हैं | वहीं थोड़ा समय गुजरने के बाद आप लाख से लाख तक कमा सकते हैं | 

संस्थान : सेण्टर फॉर इंटरनेशनल ट्रेड एन्ड डेवलपमेंट जेएनयू  दिल्ली, स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक दिल्ली यूनवर्सिटी, इंडियन इंसीट्यूट ऑफ़ फॉरन ट्रेड नई दिल्ली | 

      

Back to top